Misc UP Pravasi Rahat Mitra Mobile App Download | Migrants Data at rahatup.in...

UP Pravasi Rahat Mitra Mobile App Download | Migrants Data at rahatup.in | Yogi on COVID-19

Uttar Pradesh government has launched a new UP Pravasi Rahat Mitra App on 8 May 2020. This decision is taken by the UP CM Yogi Adityanath while addressing a meeting on COVID-19 in Govt. office of Revenue department, Lucknow. Migrants can now download UP Pravasi Rahat Mitra Mobile App from google play store (android) or apple app store (iPhone iOS). All the migrants data collected through this app would be stored on the new rahatup.in portal.

While taking with officials on Coronavirus preventive measures, CM has started this UP Pravasi Rahat Mitra app to tackle COVID-19 spread. On making registration at this app, all the migrants coming to Uttar Pradesh from other states would be able to avail benefits of sarkari yojana. Moreover, the state govt. will also track migrant workers health to protect them along with their skills to provide them with jobs in future.

Upon storing this data on the Rahat UP portal, migrant people can access various services like health counselors, shelter homes etc.

UP Pravasi Rahat Mitra Mobile App Download

The direct link to download UP Pravasi Rahat Mitra mobile app for android users (google playstore) and iphone iOS users (apple app store) will be provided here soon.

प्रवासी राहत मित्र ऐप

इसका उद्देश्य अन्य प्रदेशों से उ.प्र. में आने वाले प्रवासी नागरिकों को सरकारी योजना का लाभ तथा उनके स्वास्थ्य की निगरानी करने के साथ ही उनके कौशल के लायक भविष्य में नौकरी एवं आजीविका प्रदान करने में सहयोग करने हेतु इन प्रवासी नागरिकों का डेटा कलेक्शन करना है। सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा आपस में सूचना का आदान प्रदान कर इन प्रवासी नागरिकों के रोजगार एवं आजीविका हेत नियोजन एवं कार्यक्रम बनाने में मदद मिलेगी।

प्रवासी राहत मित्र ऐप के द्वारा, आश्रय केंद्र में रुके हए व्यक्तियों एवं किसी भी कारणवश अन्य प्रदेशों से सीधे अपने घरों को पहुंचने वाले प्रवासी व्यक्तियों का पूरा विवरण लिया जाएगा ताकि उत्तर प्रदेश में आने वाले कोई भी प्रवासी छूट न पाए। ऐप में व्यक्ति की मूलभूत जानकारी जैसे कि नाम, शैक्षिक योग्यता, अस्थायी और स्थायी पता, बैंक अकाउंट विवरण, कोविड 19 सम्बंधित स्क्रीनिंग की स्थिति, शैक्षिक योग्यता और अनुभव लिया जाएगा। इसमे 65 से भी ज्यादा प्रकार के कौशल का विवरण एकत्र किया जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री @myogiadityanath जी ने आज “प्रवासी राहत मित्र ऐप” का लोकार्पण किया गया। यह ऐप UNDP (यूनाइटेड नेशन्स डेवलपमेंट प्रोग्राम) के सहयोग से विकसित किया गया है। pic.twitter.com/LYoKZ5n8FT

— CM Office, GoUP (@CMOfficeUP) May 8, 2020

अन्य राज्यों से प्रदेश में आ रहे प्रवासी नागरिकों को दी जाने वाली राशन किट के वितरण की स्थिति भी ऐप में दर्ज की जाएगी। इस ऐप में डाटा डुप्लीकेशन न हो, इसके लिए यूनीक मोबाईल नंबर को आधार बनाया जाएगा।

प्रवासी राहत मित्र ऐप की एक अन्य विशेषता यह भी है कि इसमें ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन भी काम कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त प्रभावी निर्णय लेने के लिए ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के लोगों के डेटा को भी ऐप में अलग-अलग किया जा सकता है।

— CM Office, GoUP (@CMOfficeUP) May 8, 2020

डेटा संग्रह का कार्य शीघ्र सम्पादित हो इसके लिए विकेन्द्रीकृत स्तर पर यथा आश्रय स्थल, टांजिट पॉइंट, व्यक्ति का निवास स्थान पर डेटा संग्रह किया जाएगा। जिलाधिकारी के नेतत्व में डेटा संग्रह की जिम्मेदारी शहरी क्षेत्र में नगर विकास विभाग/नगर निकाय की तथा ग्रामीण क्षेत्र में सीडीओ/पंचायती राज विभाग की होगी ऐप संग्रहित डेटा को राज्य स्तर पर स्थापित इंटीग्रेटेड इनफार्मेशन मैनेजमेंट सिस्टम https://www.rahatup.in/ पर स्टोर किया जाएगा। इसका विश्लेषण कर प्रवासी नागरिकों को सरकारी योजना का लाभ, उनके स्वास्थ्य की निगरानी एवं विशेष कर उनके कौशल के लायक भविष्य में नौकरी एवं आजीविका प्रदान करने में सहयोग किया जायेगा।