Punjab पंजाब महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना (MGSSBY) – 5 लाख का...

पंजाब महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना (MGSSBY) – 5 लाख का कैशलेस ट्रीटमेंट

पंजाब सरकार ने केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना को राज्य में महात्मा सरबत सेहत बीमा योजना (Mahatma Gandhi Sarbat Sehat Bima Yojana – MGSSBY) के नाम से शुरू कर दिया है। पंजाब की इस सरकारी योजना में नागरिकों को 5 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें राज्य के 46 लाख परिवारों को महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना (Mahatma Gandhi Sarbat Sehat Bima Yojana – ABSSBY) से कवर किया जाएगा।

पंजाब सरकार देश के पहला राज्य है जो 76 प्रतिशत आबादी को हेल्थ कवर देगा, जबकि अन्य राज्यों में इस तरह की फ्री हैल्थ स्कीम महज 30 प्रतिशत लोगों तक ही सीमित है। महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना (Mahatma Gandhi Sarbat Sehat Bima Yojana (MGSSBY) के तहत लोग 5 लाख तक का कैशलेस ईलाज निजी और सरकारी अस्पतालों से प्राप्त कर सकते हैं।

मंगलवार को एरोसिटी के किसान भवन चैंबर में योजना की शुरुआत करने के दौरान सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मोहाली जिले के पहले 11 लाभार्थियों को बीमा योजना के ई-कार्ड सौंपे।

महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना – मुख्य बातें

पीएम जन आरोग्य योजना में लाभार्थियों का चयन एसईसीसी 2011 डेटा के अनुसार होता है जबकि महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना (AB-SSBY) में अतिरिक्त 31 लाख परिवारों को लाभ मिलेगा। जिनकी कुल संख्या 46 लाख हो जाएगी। इसके अलावा कुछ मुख्य विशेषताएँ निम्न्लिखित हैं:

महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना (MGSSBY)
स्वास्थ्य बीमा कवर की राशि5 लाख रूपये प्रति परिवार
लाभार्थियों की कुल संख्या46 लाख परिवार
प्रीमियम लागतराज्य सरकार द्वारा (276 करोड़) केंद्र सरकार द्वारा 57 करोड़
एमजीएसएसबीवाई पैकेज1396 ट्रीटमेंट (650 अस्पताल)

Read in English : Mahatma Gandhi Sarbat Sehat Bima Yojana (MGSSBY) in Punjab

2011 के एसईसीसी डेटा के अनुसार राज्य में आयुष्मान भारत योजना के तहत केंद्र और राज्य द्वारा 60:40 के अनुपात में खर्च का वहन किया जा रहा है। सरबत सेहत बीमा योजना का विवरण देते हुए सीएम ने कहा कि सामाजिक आर्थिक जनगणना के आंकड़ों के अनुसार पंजीकृत 14.86 लाख परिवारों के अलावा, 20.43 लाख स्मार्ट राशन कार्ड धारक परिवार हैं, 4.94 लाख किसान परिवार, 2.8 लाख छोटे किसान और 46,000 छोटे व्यापारियों हैं इसके अलावा 2.38 लाख निर्माण श्रमिक हैं जिन्होने राज्य के निर्माण कल्याण बोर्ड में पंजीकरण कराया हुआ है। ये सभी लोग इस महात्मा गांधी सरबत सेहत बीमा योजना (Mahatma Gandhi Sarbat Sehat Bima Yojana in Punjab) के अंतर्गत कवर किए जाएंगे।

अन्य जानकारी — पंजाब सरबत सेहत बीमा योजना 2019 – ई-कार्ड के लिए आवेदन सीएससी या सरकारी अस्पताल में करें — पंजाब सरबत सेहत बीमा योजना 2019 सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों की सूची — पंजाब सरबत सेहत बीमा योजना 2019 ऑनलाइन लाभार्थी सूची,लिस्ट में अपना नाम shapunjab.in पर चेक करें