Misc बेघर लोगों के लिए डीडीए हाउसिंग स्कीम डेटाबेस सर्वे ऑनलाइन आवेदन /...

बेघर लोगों के लिए डीडीए हाउसिंग स्कीम डेटाबेस सर्वे ऑनलाइन आवेदन / पंजीकरण

दिल्ली विकास प्राधिकरण (Delhi Development Authority – DDA) विभाग दिल्ली में एक सर्वे शुरू करने जा रही है जिसमें वो राज्य में बेघर लोगों का एक अलग से डेटाबेस तैयार करेगी। जिसके अनुसार जिन भी लोगों के पास अपना घर नहीं है वे लोग प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत डीडीए की आधिकारिक वेबसाइट dda.org.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। दिल्ली विकास प्राधिकरण के मुताबिक अभी तक यह नहीं बताया गया है की बेघर लोगों का डेटाबेस तैयार होने के कितने दिन बाद उनको अपना घर मिल जाएगा।

डीडीए द्वारा बेघर लोगों के लिए तैयार किए गए इस डाटाबेस के आधार पर ही अगर भविष्य में कोई सरकारी योजना बनती है तो अवश्य ही इन बेघर लोगों को पीएमएवाई (PM Awas Yojana Urban – PMAY U) के तहत नीति दिशानिर्देशों के अनुसार प्राथमिकता मिलेगी और बेघरों को घर देने पर विचार किया जाएगा।

सभी लाभार्थी यह ध्यान रखें की डीडीए के इस सर्वे के लिए आवेदन सिर्फ ऑनलाइन ही प्राप्त किए जाएंगे इसका अलावा किसी भी अन्य माध्यम से आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

बेघरों के लिए डीडीए हाउसिंग स्कीम डेटाबेस

पीएमएवाई के तहत इस डीडीए हाउसिंग स्कीम डेटाबेस का हिस्सा बनने के लिए लाभार्थियों को डीडीए के पोर्टल www.dda.org.in पर ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा। अगर किसी भी उम्मीदवार को पीएम आवास योजना के तहत डीडीए हाउसिंग स्कीम के डेटाबेस के लिए ऑनलाइन आवेदन या रजिस्ट्रेशन करने में कोई दिक्कत होती है तो वह विभिन्न स्थानों पर खुले हुए या संचालित डीडीए के नागरिक सेवा केंद्रों की सहायता से भी आवेदन जमा कर सकता है।

नोट : सभी उम्मीदवार यह ध्यान रखें की अगर वह किसी भी कार्यालय के जरिये ऑफलाइन आवेदन करता है तो उनके आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा।

डीडीए के कार्यरत अधिकारियों के मुताबिक डीडीए के आधिकारिक पोर्टल पर 1 अगस्त से 30 सितंबर 2019 तक ऑनलाइन पंजीकरणों को स्वीकार किया जाएगा और जो लोग जेजे कलस्टरों में रहते हैं उन लोगों के आवेदनों को स्वीकार नहीं किया जाएगा। दो महीने में जीतने भी ऑनलाइन या डीडीए नागरिक सेवा केंद्रों से आवेदन प्राप्त होंगे सिर्फ उन्ही का ही डाटाबेस बनाया जाएगा।

डीडीए के वाइस प्रेसिडेंट तरुण कपूर ने बताया क‍ि यह ऑनलाइन सर्वेक्षण केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय (Ministry of Housing and Urban Affairs – MOHUA) के निर्देशों पर किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य बेघरों का आंकड़ा एकत्र करना तो है ही साथ में घरों के आवंटन पर हो रहे फर्जीवाड़े को भी रोकना है जो बहुत सी जगहों पर प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर लगातार चल रहा है।

इसके अलावा किसी भी अन्य जानकारी के लिए उम्मीदवार डीडीए के टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800110332 पर संपर्क कर सकते हैं।