Misc हरियाणा परिवार पहचान पत्र पोर्टल ऑनलाइन पंजीकरण / आवेदन फॉर्म – सरकारी...

हरियाणा परिवार पहचान पत्र पोर्टल ऑनलाइन पंजीकरण / आवेदन फॉर्म – सरकारी सेवाओं, योजनाओं के लिए विशेष पारिवारिक कार्ड

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 25 जुलाई 2019 गुरुवार को राज्य के नागरिकों के लिए परिवार पहचान पत्र देने के लिए एक पोर्टल लॉन्च (Parivar Pehchan Patra Portal in Haryana) कर दिया है। हरियाणा सरकार की यह सरकारी योजना प्रदेश में रहने वाले परिवारों को अलग से यूनिक पहचान देने का काम करेगी। हरियाणा परिवार पहचान पत्र योजना के लिए शुरू किए गए पोर्टल (Haryana Parivar Pehchan Patra apply online form) के माध्यम से सरकार सभी नागरिकों का पहचान पत्र का ऑनलाइन पंजीकरण कराएगी।

यह पारिवारिक पहचान प्रमाण पत्र हरयाणा प्रदेश में रहने वाले लोगों के लिए यह सुनिश्चित करेगा कि सभी लाभार्थियों (Parivar Pehchan Patra in Haryana) को राज्य सरकार और केंद्र सरकार की सेवाओं और योजनाओं का लाभ मिले। इसके अलावा, इस परिवार पहचान पत्र से भ्रष्टाचार को कम करने में भी मदद मिलेगी।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र में परिवार में किसी भी नये सदस्य के जुड़ने या जन्म होने पर उसका नाम इस पारिवारिक पहचान प्रमाण पत्र (Family Identity Certificate Haryana) में जोड़ दिया जाएगा।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र ऑनलाइन आवेदन / पंजीकरण

हरियाणा परिवार पहचान पत्र के लिए ऑनलाइन पंजीकरण (Haryana Parivar Pehchan Patra online application & registration) करने के लिए परिवार के मुखिया को अटल सेवा केंद्र या अंत्योदय सेवा केंद्र पर अपने हस्ताक्षर के साथ अपने परिवार का पूरा विवरण जमा करना होगा। जिसके बाद हरयाणा पारिवारिक पहचान प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन प्राप्त (Parivar Pehchan Patra in Haryana Apply Online Form) किए गये आवेदनों और रजिस्ट्रेशन को संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा अपडेट किया जाएगा। जिसमें चल-अचल संपत्ति का पूरा ब्योरा भी शामिल रहेगा।

जिसके बाद प्रपत्र को संबंधित विभाग द्वारा परिवार के मुखिया को दो प्रिंट निकालने की अनुमति दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया की हरियाणा परिवार पहचान पत्र पोर्टल (Parivar Pehchan Patra Portal Update Haryana) पर की गई अपडेट प्रक्रिया को खोजना बहुत आसान है।

सीएम मनोहर लाल खत्तर ने बताया की इस तरह की स्कीम सिंगापुर और ब्राजील में पहले से चल रही हैं जिसकी तर्ज पर अब हरियाणा में भी हर परिवार का पहचान पत्र (Family Identity Certificate Scheme) होगा। सरकर द्वारा रिकॉर्ड को अपडेट करने के बाद प्रदेश में लगभग 55 लाख परिवारों को यूनिक आईडी कार्ड वितरित किए जाएंगे। एक बार सभी परिवारों को हरयाणा आईडी कार्ड मिल जायें उसके बाद सभी सरकारी योजनाओं और सेवाओं के लिए पहचान पत्र को अनिवार्य कर दिया जाएगा। जिससे पात्र परिवार को बिना किसी परेशानी के सरकारी सुविधाओं और योजनाओं का लाभ समय पर मिल सकेगा।

मुख्यमंत्री श्री @mlkhattar ने परिवार पहचान पत्र पोर्टल का शुभारंभ किया pic.twitter.com/Gu2BPGyjp4

— CMO Haryana (@cmohry) July 26, 2019

इसके अलावा मीटिंग में सम्बोधन करते हुए उन्होने बताया की भ्रष्टाचार पर अंकुश लगने के साथ ही वे परिवार जो सचमुच में किसी योजना के पात्र हैं उन पात्र परिवारों के सही आंकड़े सामने आएंगे।

हरियाणा परिवार पहचान पत्र लाभ / जरूरत

राज्य में पारिवारिक पहचान प्रमाण पत्र (Parivar Pehchan Patra Portal Need & Benefits) की जरुरत क्यूं है इसके लिए सरकार ने निम्न्लिखित बातों के बारे में बताया:

  • परिवार पहचान पत्र बनने के बाद जन्म तिथि न होने के कारण बहुत से बुजुर्गों को पेंशन बनवाने पर होने वाली समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • आधार कार्ड की तरह ही पूरे परिवार की पहचान भी अलग से डेटाबेस में सुरक्षित होगी, जिसमें परिवार के मुखिया का नाम सबसे ऊपर होगा।
  • यदि कोई व्यक्ति 60 वर्ष की आयु तक पहुंचता है, तो उसे यह जानकारी होनी चाहिए कि वे अब हरियाणा में वृद्धावस्था पेंशन योजना के लिए योग्य है,इसके माध्यम से पता लगाया जा सकेगा।
  • जन्म के बाद इसमें परिवार के सदस्य का नाम शामिल किया जाएगा और जब लड़की शादी के बाद ससुराल जाएगी जो उसका नाम ससुराल के परिवार कार्ड में शामिल किया जाएगा।
  • किसी भी योजना या सरकारी सेवा का लाभ लेने के लिए अब लोगों को अन्य दस्तावेज़ लेकर नहीं घूमना पड़ेगा सिर्फ यही एक परिवार पहचान पत्र इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए काफी है।
  • सरकार की इस योजना का लाभ लेने के लिए परिवार के मुखिया को अटल सेवा केंद्र या अंत्योदय सेवा केंद्र में अपने परिवार के सदस्यों का पूरा ब्योरा फार्म में दाल कर हस्ताक्षर करके जमा करवाना होगा। जिसे विभाग अपडेट करेंगे।

वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि अभी तक बहुत से ऐसे अपात्र व्यक्ति और परिवार हैं जो गलत तरीके से प्रदेश में चलने वाली सरकारी योजनाओं और सेवाओं का लाभ ले रहें हैं जिन पर काफी हद तक अंकुश लगेगा।